पुस्‍तक मंगवाने के नियम व शर्तें

पुस्तक मंगवाने के लिए मनीआर्डर/ चेक/ ड्राफ्ट अंतिका प्रकाशन के नाम से भेजें। दिल्ली से बाहर के एट पार बैंकिंग (at par banking) चेक के अलावा अन्य चेक एक हजार से कम का न भेजें। रु.200/- से ज्यादा की पुस्तकों पर डाक खर्च हम वहन करेंगे। रु.300/- से रु.500/- तक की पुस्तकों पर 10% की छूट, रु.500/- से ऊपर रु.1000/- तक 15% और उससे ज्यादा की किताबों पर 20% की छूट व्यक्तिगत खरीद पर दी जाएगी। पुस्‍तकें मँगवाने के लिए संपर्क करें : सी-56/यूजीएफ-4, शालीमार गार्डन एक्‍सटेंशन-2, गाजियाबाद-201005 (उ.प्र.) फोन : 0120-2648212 ई-मेल : antika56@gmail.com
हमारी किताबें अब आप घर बैठे ऑनलाइन मँगवा सकते हैं...www.amazon.in पर...

अरुण प्रकाश

जन्म : 22 फरवरी 1948 में बेगूसराय (बिहार) जिला के निपनियां गाँव में।
शिक्षा : स्नातप्रबंध विज्ञान और पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा।
प्रकाशित कृतियाँ : कहानी-संग्रह : भैया एक्सप्रेस, जलप्रांतर, मँझधार किनारे, उस रात का दुःख, लाखों के बोल सहे, विषम राग आदि...
आलोचना : गद्य की पहचान
उपन्यास : कोंपल कथा
कविता-संकलन : रक्त के बारे में
अनुवाद : अंग्रेजी से हिंदी में विभिन्न विषयों की आठ पुस्तकों के अनुवाद।
अनुभव : अखबारों व पत्रिकाओं का संपादन। खासकर साहित्य अकादमी की पत्रिका 'समकालीन भारतीय साहित्य' का कई  वर्षों तक संपादन। कई  धारावाहिकों, वृत्त चित्रों तथा टेली-फिल्मों के लिए लेखन से संबद्ध रहे, कई  स्तंभों के लिए भी लेखन। प्राय: एक दशक  से कथा-समीक्षा और कथेतर-गद्यों की आलोचना में सक्रीय थे। अनेक  राष्ट्रीय स्तर की  संगोष्ठियों में सहभागिता।
सम्मान : साहित्यकार सम्मान, हिंदी अकादमी; दिल्ली, कृति पुरस्कार, हिंदी अकादमी; दिल्ली, रेणु पुरस्कार, बिहार शासन, दिनकर सम्मान, सुभाष चन्द्र बोस था-सम्मान, कृष्ण प्रताप स्मृति कथा पुरस्कार सहित कई सम्मानों से सम्मानित।
निधन : 18 जून 2012 को नई दिल्ली के पटेल चेस्ट अस्पताल में दिन के लगभग एक बजे उनहोंने अंतिम सांस ली
उनका अंतिम-संस्कार उसी दिन शाम साढ़े छः बजे लोदी रोड में हुआ
अंतिका परिवार की यह व्यक्तिगत क्षति भी है। इस शोकाकुल समय में अरुण जी के शब्द ही संबल देंगे। विनम्र श्रधांजलि।